Current Affairs in Hindi-13 October 2019

1. विश्व चैंपियनशिप: सिमोना बाइल्स ने जीता 25वां मेडल, सबसे ज्यादा पदक जीतने वाली खिलाड़ी बनीं
अमेरिका की जिम्नास्टिक सुपरस्टार सिमोना बाइल्स ने वर्ल्ड चैंपियनशिप में इतिहास रच दिया है। सिमोना ने रविवार को बीम स्पर्धा में दमदार प्रदर्शन करते हुए अपना 25वां मेडल जीत लिया। इसी के साथ अब वे वर्ल्ड चैंपियनशिप के इतिहास में सबसे ज्यादा मेडल जीतने वाली जिम्नास्ट बन गई हैं।

22 वर्षीया सिमोना ने वर्ल्ड चैंपियनशिप का 19वां गोल्ड मेडल जीतकर बेलारूस के पुरुष जिम्नास्ट विताली शेरबो के विश्व रिकॉर्ड को तोड़ दिया। सिमोना ने सिर्फ इस साल ही पांच गोल्ड जीता है।

2. नेपाल को चीन की तरफ से 56 अरब नेपाली रुपये की मदद, दोनो देशों के बीच 18 समझौते
चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग रविवार को नेपाल पहुंचे। नेपाल में उनका भव्य स्वागत किया गया। इस दौरान उन्होंने नेपाली राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी से भी मुलाकात की। इसके बाद दोनो देशों के बीच 18 समझौते हुए। चीनी राष्ट्रपति ने नेपाल के विकास कार्यक्रमों के लिए 56 अरब नेपाली रुपये की सहायता देने की घोषणा की।
उन्होंने काठमांडू को तातोपानी ट्रांजिट प्वाइंट से जोड़ने वाले अर्निको राजमार्ग को दुरुस्त करने का भी वादा किया। यह राजमार्ग 2015 के भूकंप के बाद बंद है। इसके साथ ही चीन केरुंग-काठमांडू टनल रोड के निर्माण में भी मदद करेगा।  जिनपिंग 23 साल में नेपाल का दौरा करने वाले चीन के पहले राष्ट्र प्रमुख हैं।

3. भारतीय नन मरियम थ्रेसिया और चार अन्य को पोप फ्रांसिस ने संत घोषित किया

पोप फ्रांसिस ने भारतीय नन मरियम थ्रेसिया और चार अन्य को संत घोषित किया। सिस्टर थ्रेसिया के साथ साथ ब्रिटेन के कार्डिनल जॉन हेनरी न्यूमेन, स्विस लेवूमन मार्ग्यूरिट बेस, ब्राजील की सिस्टर डुलस लोप्स और इटली की सिस्टर ग्यूसेपिना वन्नीनी को भी संत घोषित किया गया।
केरल के त्रिशुर में 26 अप्रैल 1876 में जन्मी थ्रेसिया को 1904 में मरियम थ्रेसिया नाम से पुकारा जाने लगा। उन्होंने मई 1914 में त्रिशुर में सिस्टरों के समूह होली मिलन की स्थापना की। वेटिकन न्यूज के मुताबिक चर्च ने उन्हें, सम्मानित एवं पूज्यनीय व्यक्ति घोषित किया था। उन्होंने गरीबों की मदद की, बीमारों का ख्याल रखा और बेसहारा लोगों को सहारा दिया। सिस्टर मरियम थ्रेसिया का 50 वर्ष की आयु में 8 जून 1926 को निधन हो गया। वहीं 9 अप्रैल 2000 को पोप जॉन पॉल द्वितीय ने पवित्र आत्मा घोषित किया था। 

4. भारत और अमेरिका के बीच 'वज्र प्रहार' शुरू, सैन्य भागीदारी होगी मजबूत
भारत और अमेरिका के बीच होने वाला संयुक्त सैन्य अभ्यास वज्र प्रहार आज से सिएटल के संयुक्त बेस लुईस-मैककॉर्ड में शुरू हो रहा है। यह वज्र प्रहार संयुक्त सैन्य अभ्यास का 10वां संस्करण है। यह युद्धाभ्यास 28 अक्टूबर तक चलेगा।
इसमें दोनों देशों की स्पेशल फोर्सेज हिस्सा ले रही हैं। भारत की तरफ से इस सैन्य अभ्यास में भाग लेने के लिए भारतीय सेना का 45 सदस्यीय पैरा कमांडो का दस्ता अमेरिका पहुंचा हुआ है।

इस सैन्य अभ्यास का आयोजन बारी-बारी से भारत और अमेरिका में होता है। पिछले साल यह अभ्यास जयपुर में हुआ था।

5. डेनिल मेदवेदेव ने जीता शंघाई मास्टर्स का खिताब, फाइनल में ज्वेरेव को दी शिकस्त
रूस के स्टार टेनिस खिलाड़ी डेनिल मेदवेदेव ने जबरदस्त प्रदर्शन करते हुए शंघाई मास्टर्स का खिताब जीत लिया है। रविवार को खेले गए फाइनल मुकाबले में मेदवेदेव ने एलेक्जेंडर ज्वेरेव को 6-4, 6-1 से हरा दिया। इस जीत के साथ मेदवेदेव ने पहली बार ज्वेरेव पर जीत दर्ज की है। ये मेदवेदेव की दूसरी मास्टर्स 1000 की खिताबी जीत है।

6. लक्ष्य ने जीता पहला बीडब्ल्यूएफ विश्व टूर खिताब
भारत के उभरते हुए बैडमिंटन खिलाड़ी लक्ष्य सेन ने पना पहला बीडब्ल्यूएफ विश्व टूर खिताब जीत लिया। रविवार को खेले गए डच ओपन के फाइनल मुकाबले में लक्ष्य ने पहला सेट गंवाने के बाद दमदार वापसी की और आखिरी के दोनों सेट जीतकर अपना पहला बीडब्ल्यूएफ सुपर-100 का खिताब जीत लिया।
72वीं रैंकिंग वाले लक्ष्य ने जापान के 160 रैंक के खिलाड़ी युसूके ओनोडेरा को 15-21, 21-14 और 21-15 से हराया। अल्मोड़ा के लक्ष्य की यह इस सत्र की दूसरी, जबकि करिअर की छठी ट्रॉफी है। उन्होंने पिछले महीने ही बेल्जियम ओपन जीता था। डच ओपन बीडब्ल्यूएफ विश्व टूर सुपर 100 टूर्नामेंट है।

7. विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप: 19 वर्षीया मंजू रानी ने जीता सिल्वर मेडल, भारत को मिले कुल चार पदक
भारत की युवा मुक्केबाज मंजू रानी को विश्व महिला मुक्केबाजी चैंपियनशिप में रजत पदक से संतोष करना पड़ा है। पहली बार विश्व चैंपियनशिप में भाग ले रही छठी वरीयता प्राप्त मंजू ने रविवार को 48 किग्रा भारवर्ग के फाइनल में शानदार खेल दिखाया लेकिन रुसी खिलाड़ी के आगे टिक नहीं पाई। उन्हें मेजबान रूस की दूसरी वरीयता प्राप्त खिलाड़ी एकातेरिना पाल्टसेवा के हाथों 4-1 से हार का सामना करना पड़ा।
हालांकि इसके बावजूद मंजू ने इतिहास के पन्नों में अपना नाम दर्ज करा लिया। मंजू 18 सालों बाद दूसरी ऐसी मुक्केबाज बन गई हैं जिसने अपने पहले ही वर्ल्ड चैंपियनशिप में फाइनल में जगह बनाई है। उनसे पाहले 2001 में स्टार मुक्केबाज मैरी कॉम ने ये उपलब्धि हासिल की थी।

मंजू के फाइनल में हार के बाद विश्व महिला मुक्केबाजी चैंपियनशिप में भारत की चुनौती भी समाप्त हो गई। भारत की तरफ से मंजू रानी ने रजत पदक, मैरी कॉम, जमुना बोरो और लवलीना ने कांस्य पदक जीते।

8. अमेरिकी संसद में बापू की 150वीं जयंती मनाने का प्रस्ताव

भारतीय-अमेरिकी कांग्रेसी राजा कृष्णमूर्ति ने अमेरिकी प्रतिनिधि सभा में इस वर्ष महात्मा गांधी की 150वीं जयंती और उनकी विरासत का जश्न मनाए जाने का प्रस्ताव पेश किया है।
शुक्रवार को प्रस्ताव पेश करने के बाद कृष्णमूर्ति ने कहा कि महात्मा गांधी मेरे निजी नायकों में से एक हैं। इस प्रस्ताव को 14 अन्य सांसदों के द्विदलीय समूह द्वारा स्वीकार किया गया था। उन्होंने कहा, ‘सार्वजनिक सेवा के लिए गांधी का समर्पण एक प्रेरणा है। कई कठिनाइयों और अन्यायों का सामना करने के बाद भी उन्होंने कभी भी स्वतंत्रता, गरिमा और समानता की लड़ाई में हार नहीं मानी।’

इस प्रस्ताव को 14 अन्य सांसदों के समूह द्वारा को-स्पांसर किया गया था। उन्होंने आगे कहा कि जैसा की इस साल हमने गांधी की 150 वीं जयंती मनाई, आइए अब हम उनकी स्थायी विरासत का सम्मान करें और उनके स्मारकीय प्रभाव का जश्न मनाएं। संयुक्त राज्य में भारत के राजदूत हर्षवर्धन श्रृंगला ने इस प्रस्ताव का स्वागत किया। 

9. केन्या के एलिउड किपचोगे ने रचा इतिहास, दो घंटे से पहले खत्म की मैराथन
केन्या के एलिउड किपचोगे शनिवार को इतिहास रच दिया। वे दो घंटे से भी कम समय में मैराथन पूरी करने वाले दुनिया के पहले एथलीट बन गए हैं। हालांकि इसे बतौर वर्ल्ड रिकॉर्ड दर्ज नहीं किया जाएगा क्योंकि यह एक गैरआधिकारिक मैराथन रेस थी।

ओलंपिक चैंपियन और विश्व रिकॉर्डधारी केन्याई धावक ने 1 घंटे, 59 मिनट और 40 सेकेंड में शनिवार को यह दौड़ पूरी की। 2016 रियो ओलंपिक के स्वर्ण पदक विजेता किपचोगे अपनी 11 मैराथन में से 10 जीत चुके हैं।

No comments:

Post a Comment